Unicorn and the stars

Artwork by my nephew Aniruddha (7)

What is the distance between the earth and the stars?”

My five-year-old nephew asks, wide-eyed.

The rocking horse in his bedtime story book

Summons a unicorn and goes wherever it wishes.

I want to ride on that horse and get to the stars.

I want to ask amma why she went away so far…

[When my sister passed away in February, I told my nephews that she is a star now.]

खाली घर

बचपन में, घर के पास जो खाली घर था,
वहाँ मैं और मेरी दीदी, ऊंची आवाज़ में,
अपने नाम को पुकार कर उसकी गूँज सुना करते थे।
आज सालों बाद खाली घर में अपने नाम के बजाय
किसी दूसरे के नाम को गूँजता सुन कर
ये ख्याल आया : बचपन और जवानी में यही फर्क़ है
कि उम्र के साथ केवल यादें रह जाती हैं…

© Vidya Venkat

तंगदिल

वो कोई तंगदिल ही होगा,
जिसने प्यार के बदले प्यार ना दिया।
अब हम गिला करें भी तो किस से,
जब मुझे ठुकराने के चक्कर में
वो खुद बर्बाद हुआ…

© Vidya Venkat

गुज़ारिश

नीले आसमान के तले,
सवेरा नींद से जागा है।
सूर्य की नर्म किरणों से
ओस की बूंदे द्रवित हुई।
ऐसे ही कभी एक दिन
तुम आना मेरी जिंदगी में।
सर्दी है, रात बहुत लंबी हो गई…

© Vidya Venkat